परिया जमीन पर

जेट ने जब कबिन क्रिउ मे कटोती की तब ना जाने सारी परिया जैसे आसमान से धरती पर आ गयी हो|

मुम्बई की सडके जैसे परियो के तालाब से भर गयी थी| 

 वैसे भी परीयो को तो हमने सदा किस्सो कहानीयो मे आसमान से ही आते सुना है |आज वैसा सच प्रतित होता जान पर रहा है |

हमारे एक साथी-जन ने कहा ,”इस बार फ्लाईट से दिवाली पर घर जा रहा हुँ | उन से गले लग कर बेशक उनके दुखो को आधा करने का प्रयतन करुँगा |”

भगवान भी परीयो के सुनते है, तभी तो जेट के मालिक की नीद उड गयी और बेचैनी ने साथ ना छोडा|

और अन्तत: परिया वापस आसमान को उड चली |

27 विचार “परिया जमीन पर&rdquo पर;

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s